Hindi News

इन कर्मचारियों की सैलरी में होगी 15 प्रतिशत की बढ़ोतरी! कोरोना काल में मिलेगी बड़ी राहत

कोरोना संकट के चलते सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के वेतन वृद्धि और डीए में बढ़ोतरी पर रोक लगा दी है। लेकिन ऐसे समय में भी बैंक कर्मचारियों के लिए खुशखबरी भरी खबर सामने आई है। दरसअसल इंडियन बैंक्स एसोसिएशन और यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस 11वें द्विपक्षीय समझौता हो गया है। इस समझौते के तहत बैंक कर्मचारियों और बैंक स्टाफ के वेतन में 15% बढ़ोतरी करने पर सहमति दी गई है। इस समझौते के साथ ही पिछले तीन साल से चल रहा विवाद खत्म हो गया है। बैंककर्मिकों के वेतन में बढ़ोतरी 1 नवंबर 2017 से प्रभावी स्वीकार किए जाएंगे। वेतन में वृद्धि के साथ, परफॉरमेंस-लिंक्ड इंसेंटिव भी पहली बार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में लागू किया जा रहा है।

इन कर्मचारियों मिलेगा वेतन वृद्धि का लाभ
इस समझौते के बाद सार्वजनिक पुराने निजी बैंकों और विदेशी बैंकों के कर्मचारियों को वेतन वृद्धि का लाभ मिलेगा। बताया जा रहा है कि इस समझौते के तहत उन कर्मचारियों को ही लाभ मिलेगा जो समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इस समझौते पर कुल 37 बैंकों ने हस्ताक्षर किए हैं। इनमें से 11 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक हैं, 12 निजी बैंक हैं और 7 विदेशी बैंक शामिल हैं।

क्या है परफॉरमेंस-लिंक्ड इंसेंटिव?
पहली बार, परफॉरमेंस-लिंक्ड इंसेंटिव सार्वजनिक क्षेत्र के 11 बैंकों में 11वें द्विपक्षीय समझौते के तहत लागू किया जा रहा है ताकि बैंक कर्मचारी इस प्रतिस्पर्धी परिदृश्य में बेहतर प्रदर्शन कर सकें। इंसेंटिव बैंक के परिचालन लाभ या शुद्ध लाभ पर आधारित होगा.PLI कर्मचारियों को बैंक के वार्षिक प्रदर्शन और किसी फर्म या बैंक के साल-दर-साल के मुनाफे में प्रतिशत वृद्धि के आधार पर भुगतान किया जाता है। यह वेतन में वार्षिक वृद्धि के अलावा सभी कर्मचारियों को देय है। निजी बैंकों और विदेशी बैंकों के लिए, कर्मचारियों को यह इंसेंटिव प्रदान करना वैकल्पिक होगा।

11वें द्विपक्षीय समझौते के अंतर्गत बैंक कर्मचारियों के लिए कुछ अन्य भत्ते भी दिया जाना स्वीकार किया गया है। बैंकिंग क्षेत्र नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) में अपना योगदान बढ़ाकर 14% वेतन और महंगाई भत्ता (डीए) 10% से बढ़ाएगा। हालांकि, यह सरकार की मंजूरी के अधीन है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

News Publisher

Copyright © 2020 Trends Free

To Top